“आछो जीवण जगेर सूत्र चूकरोच”

“जीवन जगेर सूत्र चूकरो च ”

माणस अहंकार काई छोड़ेंन तयार छेयी

भाई भेंन कायी

नुसतो फापट पसारो  छ

क़ुन केनि पूछ रो कोनी

कुण केरसाऊ जाएनी

कुण केरी कन आएनी,

जिवतो र काई मरगो काई

माया केनि आएनी

संवेदनशीलता आब

फारशी काई दिसाएनि

आँगनेम बेसन   गप्पा टप्पा व्हेएनि

पॅकेज, इनक्रिमेंट, सॅलरी

इन्व्हेस्टमेंट, विकएन्ड,

एरे माइच आदमीर हेरो छ द एण्ड        ऐस आरामेती माई रेतू रेतु

फाटों टूटो तांडो कोनी वाटे लागों   ढाई रो नातों रो तरि केएर लाज वाटच

सिके साके रेतानी मानस आज येंडो वाटतं,   इंटेरियर करे व्हीए घरे म

फेटिया,धोती र लाज आवच

सारिच साळ भेनोई, पामणे

कुकरें न रिए पॉश ?

पार्लर माई आएआंग़ुर

चिकनो चोपड़ोकसो दिसाय?

तड़के माई काम करेवाले काले पडेवालेच

गरिबी र गांजो व्हिय माणसेर मूँड़े र रंग वडेच वालो

कुरूप ओ कोनी   भियाँ

कुरूप तू हेगो छि    भियाँ

माया नातों गोते ती करेर छोड़न

आचो दिसाये वाले प येंडो व्हेग़ो छी …

काळी रि कि गोरी रि याड़ी याड़ीच रच.

बाप स्वतःन गाड़न लच करन तार मज्या रच .

नंदी रो पात्र क़तरा भी मोटों व्हे तरि गंगा नदीर उगम भुलनु न

सक रो की दक रो

आपने लोक़ून भूलनु न

दिसायं प माया मत कर

आपनो करन धाइ लेन समजन ल

क़धी कोनी गो तरि चाले तीज,होलीं न ज़रूर घर जा   कॉम्प्युटरेर भाषा खूप शिकगो

माणसे प परेम कररेर शिक,

नही तो येडे नाहीं

घर घर मांगिस भीक …

दुसऱरेर  छळ करन तम सुखी हे वाले कोनी

पीसा कतराभि रे तरि जीवन जगें न मज्या कोनी आये वाली *

म का बोलू?* *

म का फोन करू?* *

म का कमीपणा लू? *

म का नमतो लू ? *

म च का क़ायम समजन लू ?* *

म काई कमी छूँ काई ?

असे खुप *”

म ” छ जे आपने आयुषेम जेर कलाव छ

करन म पनो छोड़ो व नातों जोड़ों

जय सेवालाल

संकलन…सुखीचव्हाण,बदलापुर

📞9930051865

गोर कैलास डी राठोड

Tag: Banjara News, Live News, GorBanjara, Lamani

Leave a Reply