“दुनिया भरके रोमानी/जिप्सि यह भारतीय जनजाती समूह के लोग हमारे गोर बंजारा है”तो

।। *जय सेवालाल*।।

🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻

दुनियाभरके रोमानी / जिप्सि ये भारतीय जनजाती समूह के लोग हमारे गोर  बंजारा है।

भाग-१〰〰〰

जानीऐ इस लेख मालिकासे〰〰

भाईयों,रोमानी एक जातीय समूह हैं जो ज्यादातर यूरोप और अमेरिका में रहते हैं। रोमी भाषा “जिप्सी” (या जिप्सी) और रोमानी, रोमानी, रोमानी, रोमा या रोम्स के रूप में अंग्रेजी बोलने वाले दुनिया में व्यापक रूप से जाने जाते हैं; उनकी रोमानी भाषा में वे सामूहिक रूप से रोमेने या र्रोमेन (बोली के आधार पर) के रूप में जाने जाते है।

रोमानी (रोमानी / रोमी / वर्तनी/रो), रोमा, एक पारंपरिक रूप से भटक्या जाती वाला नस्लीय समूह है, जो ज्यादातर यूरोप और अमेरिका में रहते हैं और भारतीय उपमहाद्वीप के उत्तरी क्षेत्रों से गये है। संभवत: जहां से राज्य राजस्थान, हरियाणा और पंजाब आज मौजूद हैं।

रोमानिया: 621,573-2, 000,000

इटली: 120,000-180,000

यूनाइटेड किंगडम: 90,000-300,000; / ≈225,000 /

फ़्रांस: 350,000-500,000

दुनिया भर में लगभग 12 मिलियन रोमा बंजारा  उत्तरी भारत छोड़ने के बाद, सबसे रोमानी यूरोप गए: कुछ पूर्वी यूरोपीय देशों में, जैसे रोमानिया और बुल्गारिया, वे कुल आबादी का 12 प्रतिशत तक बनाते हैं। द न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, रोम में लगभग 2.75 मिलियन रोमानी तुर्की में भी हैं: बड़े रोमा आबादी वाले अन्य यूरोपीय देशों में रूस, स्लोवाकिया, हंगरी, सर्बिया, स्पेन और फ्रांस शामिल हैं।

यद्यपि यूरोप में ध्यान केंद्रित किया जाता है, हर परिचित महाद्वीप पर रोमनी भी आबादी होती है – संयुक्त राज्य अमेरिका में करीब 10 लाख लोग रहते हैं, और लगभग 800,000 ब्राजील में हैं।

✍    *प्रा.दिनेश सेवा राठोड*

9404372756

*क्रमशः .to be continued*-

सौजन्य:गोर कैलास डी राठोड

Banjara woman, gormati ladies

Leave a Reply