धुम्रपान ऐसी व्यासन हैं |

धुम्रपान एक ऐसी व्यासन हैं | जिसे एक बार पकडली उसे छोडना बहुत मुश्किल होजाता हैं |
दोस्तो धुम्रपान को छोडो और अपने परिवार के साथ सुक्षित रहो क्यो की हमारी जरूरत अपने परिवार को बहुत हैं..!! धुम्रपान से कितने घर या परिवार बिछडजाते हैं | तो आओ एक साथ मिलकर 31 मई धुम्रपान निषेध दिन को धुम्रपान को दिलसे निषेध करते हैं | और खुशी भरा जिवन आपने परिवार के साथ बिताते हैं |
सौजन्य:- आपका शुभचिंतक
गोर कैलास डी.राठोड
स्वयंसेवक गोर बंजारा संघर्ष समिती भारत,तथा संस्थापक/अध्यक्ष
जय सेवालाल बंजारा सेवा संस्था ठाणे.महाराष्ट्र राज्य..

image

Leave a Reply