बंजारा समाज को एकता एवं शिक्षा पर विशेष ध्यान देना होगा….

आदरणीय समाज बंधुओं जय रूपसिंहजी महाराज !
जय सेवालाल ! जय बाबा लखीशाह !
सभी समाजबंधुओं को 8 अप्रैल विश्व बंजारा दिवस एवं अक्षय तृतीया आखा तीज पर विवाहित नवदम्पत्ति को हार्दिक बधाई । सभी बंजारा समाज बंधुओं से निवेदन है कि बंजारा समाज में एकता का अभाव देखने को मिल रहा है । यह समाज उत्थान के लिए अच्छी बात नहीं है । समाज बंधु अगर आपस में प्रतिस्पर्धा का भाव मन में रखते हैं तो यह समाजहित में अच्छा नहीं है । अगर प्रतिस्पर्धा ही करनी है तो अन्य समाज के लोगों से करो ताकि हमारी समाज अन्य समाज से आगे जा सके। अन्य समाज के { डॉक्टर, इंजीनियर, कलेक्टर, नेता आदि बन रहे हैं, अगर हम उनसे प्रतिस्पर्धा करेंगे तो हमारी समाज के लिए अच्छा होगा न कि हम अपनी ही समाज के बंधुओं से प्रतिस्पर्धा करें ।

होना तो यह चाहिए कि समाज का कोई भी व्यक्ति अगर कोई अच्छा कार्य कर रहा है, आगे बड़ रहा है तो सभी समाजबंधुओं को मिलकर उसकी मदद करना चाहिए ताकि वह बंजारा समाज का नाम रोशन कर सके । वही सभी समाज बंधुओं से यह भी कहना चाहता हूँ कि हमारी समाज में कुछ ऐसी गतिविधियाँ होनी चाहिए जिससे समय–समय पर समाज के अधिक से अधिक संख्या में लोग एकत्रित हो सके, क्योंकि जब तक हम एक जहग एकत्रित नहीं होने समाज के हित में योजनाएँ नहीं बना पाएंगे । समाज में क्या कमी है, क्या करना, क्या नहीं करना है, इसी कई मुद्दों पर चर्चा–परिचर्चा करने से ही समाज को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी । 8 अप्रैल को विश्व बंजारा दिवस मनाया जाता है पर इसके बारे में अभी भी बंजारा समाज बंधुओं को जानकारी नहीं है । इस दिन के बारे में सभी बंजारा बंधुओं को जानकारी होना चाहिए ताकि हर वर्ष जैसे ही 8 अप्रैल आए तो समाज के सभी लोग इस दिन को एक त्यौहार के रुप में मनाए ।
यह तो हमारे लिए गर्व की बात है कि वर्ष में एक दिन हमारी समाज के नाम से जाना जाता है, पर दुःख की बात यह भी है कि बंजारा समाज के लोग ही इस दिन को सही तरिके से नहीं मनाते । यह ऐसा अवसर जब हम सब लोग मिलकर अपनी एकता का परिचय दे सकते हैं । सभी को दिखा सकते हैं कि बंजारा समाज आज उन्नति की राह पर चल पढ़ा है…..
वहीं बंजारा समाज के गणमान्य नागरिक से निवेदन है कि बंजारा दर्पण पत्रिका प्रतिमाह प्रकाशित होती है, अगर आप कुछ भी छोटे से छोटा या बड़ा कोई भी कार्यक्रम आयोजन करते हैं तो उसका समाचार पत्रिका कार्यालय पर डॉक द्वारा अवश्य भेंजे ताकि पुरे देश में आपके सराहनीय कार्य को लोग सराहे । समाज में हित में क्या करना है, क्या होना, कैसे होना आदि की जानकारी भी हमें लिखकर भेंजे ताकि हम पत्रिका में प्रकाशित कर सकें । आपकी शिकायत एवं सुझाव सादर आमंत्रित हैं । कृपया समाज उत्थान एवं समाज नव निर्माण के इस पुनित अभियान बंजारा दर्पण में सहयोग प्रदान करें । एक बार पुनः सादर वन्दे, जय श्री राम । ।। जय बंजारा ।।

One Comment

Leave a Reply