​!!बेटी बचावो!!  बंजारा बोली कविता, कवी: सुरेश मं.राठोड़  

!!बेटी बचावो!!  बंजारा बोली कविता, कवी: सुरेश मं.राठोड़  काटोल नागपूर
कोई केरी छेनी जगेमं..?

सासरो देरे पगं-पगेमं…..!!धृ!!
बेटी जन्म पाप केराव ..!

बेटा सारु नवस कराव.!!

कोई बेटीन वेचन खाव..!!!

वाली छेनी जगेमं……..!!१!!

              सासरो देरे पग-पगेमं…
बेटा-बेटी एकसमानं..!

तो बी बेटीरो कर अपमान!!

मारं गर्भेमं फासी लगान..!!!

पाप वेरो जगेमं……….!!२!!

             सासरो देरे पग-पगेम…..
बालपणेम कर भेदभाव..!

बेटान जादा जीव लगाव..!!

बेटी पराई छोड़न जाव….!!!

फरक ई वागेमं………..!!३!!

              सासरो देरे पग-पगेमं…..
नर-नारी एकसमानं..!

नारी जल्मेरो करो सन्मानं.!!

कवी सुरेश कररो गुणगाण..!!!

नारी रतन जगेमं………….!!४!!

            सासरो देरे पग-पगेमं….
कवी: सुरेश मं.राठोड़  काटोल नागपूर 7350739565

Khushboo Vasanth Rathod, Thane

रविराज एस. पवार 

Banjara news chif editor

8976305533

Leave a Reply