Category: banjara culture

“बंजारा समाज के सभी युवकों को यह शपथ ग्रहण करणी होगी”

​!!शपथ!!! संत क्रांतिवीर जगतगुरु सेवालाल बापू के जयंतीअवसर पर ये शपथ लें कि हम हमारी संस्कृति ठीक से याद करे और कोई भी काम या वाच्यता से समाजद्रोह
Read More

“बंजारा समाज सदियो पूराना”

भारत की सबसे सभ्य और प्राचीन संस्कृती सिंधु संस्कृती को माना गया है। इसी संस्कृती से जुड़ी हुई गोर- बंजारा संस्कृती है और इस गोर बंजारा समाज का 
Read More

“अखिल भारतीय बंजारा समाज साहित्य सम्मेलन-केवळ गोर संस्कार व गोर साहित्यानेच व्हावे”

​*भाग -2* *बंजारा साहित्य संमेलन- काही तथ्ये व अपेक्षा*    ✍प्रा.दिनेश एस.राठोड      आपण जाणतो साहित्यच माणसाला सुसंस्कृत बनविते. .संस्कृतीचे संक्रमन करते.  आमच्या उमेदी  साहित्यिकांनी गोर विचारांच्या
Read More

“बंजारा समाज सिंधू धाटीचे वारसदार”- Banjara Culture

“बंजारा समाज सिंधू धाटीचे वारसदार” ” पंच पंचायत राजा भोगेरे सभा । पचारे लाख न पचारे सव्वा लाख।। सगा से आनंद भाई से कसव । कसव कसव आनंद
Read More

कभी भारत से यूरोप गए थे ये बंजारे, आज जी रहे हैं ऐसी LIFE – Roma Gypsy Banjara

ऐसी कम्युनिटी भी रह रही है, जिसका कनेक्शन भारत से है। ये यहां का सबसे बड़ा माइनॉरिटी ग्रुप है और इन्हें रोमा समुदाय के नाम से जाना जाता
Read More

सगायीर कसळत.

*सगायीर कसळात* रामराम. पंछ पंछायत राजाभोजेर सभा. पचारे लाख आनपचारे सवा लाक रं नायेक. सगायी परकन कीद, दोयी भात वूपर कांटा परमळ मारे मायी बेटो दूदाळो र नायेक,
Read More