Category: banjara social

गोरमाटी भीया: कविता युवा पीढ़ीरो कवि लखनकुमार जाधव,

*** भीया गोरमाटी *** येकजूट वेयेर गरज छ आब करा जतन से धाटी आलग आलग वीकरागे जे येक वेजावा से गोरमाटी  (1) चमकनताणी कू काडोचो आयुष्य  केरकेर लेयवाळ
Read More

आॅल इंडिया बंजारा सेवा संघ द्वारा आयोजित ५ वे अखिल भारतीय गोर बंजारा साहित्य सम्मेलन मुंबई,राज्यस्तरीय सहविचार सभा दि.१७ सप्टेंबर २०१७ कल्याण येथे”

आॅल इंडिया बंजारा सेवा संघ द्वारा आयोजित,५ वे अखिल भारतीय गोर बंजारा साहित्य सम्मेलन मुंबई राज्यस्तरीय सहविचार सभा कल्याण येथे दि.१७ सप्टेंबर २०१७ रोजी आयोजित केलेली आहे.तरी बंजारा
Read More

“तांडा”एक अदभुत संकल्पना”

“वाते मुंगा मोलारी” भीमणीपुत्र “तांडा”- “तांडो ई मनुवादी छेनी तो बौद्धवादी बी छेनी, तांडा ई एक अदभुत संकल्पना छ जेनं इंग्रजी पारिभाषामं ‘ रोम्यांटिशिझम’ केतू आवचं.जगेर पूटेपं कोर
Read More

कभी भारत से यूरोप गए थे ये बंजारे, आज जी रहे हैं ऐसी LIFE – Roma Gypsy Banjara

ऐसी कम्युनिटी भी रह रही है, जिसका कनेक्शन भारत से है। ये यहां का सबसे बड़ा माइनॉरिटी ग्रुप है और इन्हें रोमा समुदाय के नाम से जाना जाता
Read More