Gajanan D Rathod

मेरे गोर बंजारा भाईयों
आज हम गोर बंजारा संघर्ष समिति व्दारा समाजहित मे जो कार्य कर रहें है।उसी कार्य की सुरवात हमें अपने आपसे करनी है।क्योंकि आज अगर हम समाजहित मे सोचेंगे तो कल की युवा पिढी हमारे आपणे संस्कारों के सहारे हमारे समाज को उस बुलंदीओ तक पहुँचाने मे कोई कसर बाकी नही रखेंगे।तो भाईयों बिना सोचें समाजहित मे जुड़कर आपणे समाज के बढ़ते कदमों को सहारा दिजीए।अगर इसी तरह से हम सब की सोच होगी तो जरा सोचीए।हमारा कल क्या होगा पहीले तो ऐसी टेक्नोलॉजी भी नहीथी।तो हमारे बुजुर्गोंने इस देश को बहूत कुछ दिया है।आज हमारे पास ऐसी बहूत सारी सुविधाएँ उपलब्ध है।जिसके जरिए हम हमारे समाज को बहुत उंचाई तक पहूँचा सकते है।बस हमें खुद जुड़कर समाज को जोड़ने का कार्य करना है।आज हम सब दुनिया के कोने कोने मे पहूँच सकते है।ऐसी टेक्नोलॉजी आज हमारे पास है।जरा सोचकर देखो कल क्या क्या उपलब्ध होगा।
समाजहित ही दुनियाभर मे सबसे बढ़ी चेतावनी है।अगर जो मनुष्य समाज हित मे पास होगया वह हर चिज मे नंबर वन साबित होगा।

जय सेवालाल जय बंजारा
मै…..एक समाजसेवक
गजानन डी.राठोड
गोर बंजारा संघर्ष समिति
जुडो अन् जोडो

Leave a Reply