Gajanan Rathod

जय सेवालाल…………………….गोर बंजारा संघर्ष समिति के स्वयंसेवक समाज केलिए निःस्वार्थ से कार्य कर रहे वह मेरे भाईयो
हमें जो समाज केलिए करना है।हम कर रहे है और करते ही रहेंगे।आज गोर बंजारा संघर्ष समिति की शाखाएँ बहूत जगह पर खोली गई है।और भी हमें बहूत सारी शाखाएँ खोलनी है।हर गाँव, शहरों में तथा पुरे भारतभर में हमें यह शाखाएँ खोलनी है।इस केलिए आप सभी भाईयो का योगदान मांगता हु।मै एक स्वयंसेवक होने के साथ साथ आप सबका गोर बंजारा भाई हु।इस बात पर गौर करके आगे बढ़े और समाज के हर भाईयो को आगे बढाने मे गोर बंजारा संघर्ष समिति मे शामिल हो जाईए।
हर अच्छे कार्य करने वाले को मुश्किलो का सामना करना पढ़ता है।और जो मनुष्य निःस्वार्थ रूप से काम करता है।उसी मनुष्य की बदनामी होती है।बदनामी करने वाले को कभी यह मालुम नही होता है। की वह क्या कर रहा है।और वो खुद भी कुछ नही करेगा ना ही दुसरो को कुछ करने देगा इस लिए मुझे इतना ही कहना है।कोई कुछ भी कहे उस बात पर जादा ध्यान ना देते हुऐ।आगे का कार्य करते रहना चाहिए।क्योंकि सबको पता है।जित आखिर सत्य की ही होती है।इस बात से सहमत हो तो बोलिए।क्योंकि बहुत सारे लोग ऐसे है।की जिंदगी मे कुछ करना चाहते है।और कुछ लोग ना खुद करते है।ना ही किसी को कुछ करने देते है।यह बात हर निःस्वार्थ मनुष्यों के जिवन मे एक बार आती है।यही बात से हमें बचके हर कार्य करना है।दोस्तों मुझे किसी का दिल दुखाना नही है।मगर यह बात हमें हर भाईयो तक पहुँचा ने की जरूरत भी है।हमें मालुम है।जीस रास्ते से हम चल रहे है उस रास्ते मे आगर कोई समस्या नही आयेगी तो समज ली जीए कक आप गलत रास्ते पर जारहे हो।

कुछ भी गलत होतो क्षमा चाहता हु
धन्यवाद………

श्री.गजानन डी.राठोड
गोर बंजारा संघर्ष समिति भारत
9619401377

Leave a Reply